Powered by Blogger.

करवा चौथ मनाने के पीछे की कहानी- महिलाओं को जानना बहुत ही जरूरी

इस साल आप करवाचौथ तो बना रहे हैं, पर आपको इस उत्सव को मनाने के पीछे की जानकारी जानने की भी आवश्यकता होनी चाहिए| हमारे समाज में पुराने फैलातो कि जो भी औरतें घर में या परिवार में, उन्हें हमारे पीढ़ी के बच्चों को खास करके लड़कियों को यह बताने में बहुत उत्साह होती है कि कैसे एक शादीशुदा जिंदगी को व्यतीत करना है| वह उन्हें सारी जानकारियां देती है जो कि एक खुशहाल पति-पत्नी के रूप में जीवन को व्यतीत करने के लिए आवश्यक है| कुछ चीजें जैसे कि -
Checkout Latest:- karva chauth mehndi designs 2017


  1. तैयार होना 
  2. खाना पकाना 
  3. अलग-अलग त्योहारों के रीति रिवाज 
  4. घरेलू वातावरण के बारे में 
  5. और पति को खुश रखने की जानकारी 

इन्हीं रीति-रिवाजों में से एक है करवा चौथ का व्रत जो कि पूरे भारत में धूमधाम से मनाया जाता है| इस त्यौहार में औरतें अपने पतिदेव के लिए व्रत रखती है- जिनमें उन्हें पूरा दिन बिना कुछ खाए व्यतीत करना पड़ता है| कभी-कभी पति कुछ मीठा खिला देते हैं, जिससे पत्नियों को थोड़ी बहुत आसानी हो जाती है व्रत करने में लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए|

Karva chauth real story in hindi

अगर आपको करवा चौथ की जानकारी पूरी तरह से नहीं है और अगर आप नहीं जानते हैं की करवा चौथ क्यों मनाया जाता है तो कृपया नीचे पढ़ें और जान लें करवा चौथ मनाने के पीछे की कहानी|
करवा चौथ की कहानी एक रानी की कहानी है जिनका नाम रानी वीरावती था| रानी वीरावती के राजा अक्सर बाहर रहते थे युद्ध के सिलसिले में, इसीलिए रानी वीरावती को उनकी बहुत ही चिंता सताती थी| इसीलिए उन्होंने अपने पति की सलामती के लिए दिन-रात व्रत रखना शुरु कर दिया| एक बार रानी वीरावती को इस हालत में देख कर, उनके सात भाइयों में से एक ने धोखे से रानी वीरावती को चांद देखने से पहले खाना खिला दिया| और अगले ही दिन खबर आई की राजा की मृत्यु हो गई है| यह सुनकर रानी वीरावती का दिल टूट गया, और उन्होंने भगवान पर्वती पूजा करते हुए यह पूछा की उसे कहां गलती हो गई थी जो उनके पति की मृत्यु हो गई है| माता पार्वती ने यह जवाब दिया कि तुम यह करवा चौथ व्रत फिर से पूरे विधि विधान से करो तुम्हारा पति वापस आ जाएगा| ऐसा करते ही रानी वीरावती के पति उनको वापस मिल गए और तब से ही करवा चौथ का व्रत रखा जाने लगा|
Share on Google Plus

About Funny Bora

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment